INDIAN PM नरेन्द्र मोदी जीवन परिचय Narendra Modi Biography in Hindi


पूरा नाम  – नरेन्द्र दामोदरदास मोदी
जन्म       – 17 सितम्बर 1950
जन्मस्थान – वडनगर, जि. मेहसाना (गुजरात).
पिता       – दामोदरदास मूलचंद मोदी
माता      – हीराबेन मोदी
विवाह     – जशोदाबेन के साथ

Image result for NARENDRA MODI

नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय NARENDRA MODI BIOGRAPHY IN HINDI

नरेन्द्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को हुआ। उनकी माता का नाम हीराबेन और पिता का नाम दामोदरदास मोदी था। नरेन्द्र मोदी ने अपने जीवन की मामूली सी शुरुआत की थी। छह भाइयों के बीच तीसरे बच्चे, मोदी ने अपने शुरुआती सालों में अपने पिता के साथ और अपने भाई के साथ चाय बेचने में मदद की। उन्होंने गुजरात में एक छोटे से शहर, वाडनगर में अपनी पढ़ाई पूरी की। यहां तक ​​की उनके स्कूली शिक्षा के वर्षों में और तुरंत उसके बाद उन्होंने भारत-पाक युद्ध के दौरान सैनिकों को चाय बेची।

एक महान वक्ता के रूप में मोदी की पहली झलक उनके स्कूली शिक्षा के वर्षों में देखी गई। हाल ही के इंटरव्यू में, उनके स्कूल के शिक्षक ने यह बताया है कि वह औसत छात्र थे, वह हमेशा एक ज़बरदस्त भाषण देने वाले व्यक्ति थेजो हर किसी सुनने वाले को अपनी और आकर्षित कर लेते थे।

नरेन्द्र मोदी / Narendra Modi का राजनीती को समर्पित जीवन

नरेन्द्र मोदी जी ने अपना पूरा जीवन 1971 में RSS join करने के बाद राजनीती को ही समर्पित किया. 1975-77 में जब राजनितिक झगडे चल रहे थे तब प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी में राज्यों में आपातकाल घोषित किया और RSS जैसी संघटनाओ को बंद करने कहा. तब नरेन्द्र मोदी ने गुप्त रूप से एक पुस्तक लिखी जिसका नाम “संघर्ष माँ गुजरात”, जिसमे उन्होंने गुजरात के राजनीती को वर्णित किया था.

1978 में, नरेन्द्र मोदी दिल्ली से राज्यशास्त्र में स्नातक हुए और गुजरात यूनिवर्सिटी में उनका मास्टरी का काम भी 1983 में खत्म किया.

1987 में नरेन्द्र मोदी भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए, बीजेपी में वे दिन ब दिन आगे बढ़ते गए और सामाजिक हितो के कई काम उन्होंने बीजेपी में रहकर किये. उन्होंने Business के Privatisation, छोटे Business को बढ़ावा दिया. 1995 में मोदी राष्ट्रीय मंत्री के रूप ने नियुक्त हुए, 1998 के चुनाव में बीजेपी को आगे बढ़ाने में उनका सबसे बड़ा हात था.

फेबुअरी 2002 में जब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में सेवा कर रहे थे. आने जाने वाली ट्रेन पर किसी ने अटैक किया, जो कथित रूप से मुस्लिमो ने किया था. और बदले के प्रतीशोध/ इरादे से गुलबर्ग के मुस्लिमो पर भी हमला किया गया. इस तरह हिंसा बढती गयी इस वजह से नरेन्द्र मोदी सरकार को उस समय कर्फ्यू की घोषणा करनी पड़ी.

कुछ समय बाद दोनों ही समुदाय में शांति की स्थिति आई और तब नरेन्द्र मोदी सरकार की कई लोगो ने पुरे देश में आलोचना की क्यू की उस हमले में 1000 से भी ज्यादा मुस्लिम मारे गए थे. नरेन्द्र मोदी के विरुद्ध 2 जांच कमिटी गठित करने के बाद सर्वोच्च न्यायालय ने पाया की नरेन्द्र मोदी के विरुद्ध कोई गवाह नहीं है जिस से उन्हें दोषी ठहरा सके.

और बाद में नरेन्द्र मोदी 2007 और 2012 में पुनः गुजरात के मुख्यमंत्री नियुक्त हुए. और तब से नरेन्द्र मोदी हिन्दित्वावादी बातो पर कम और आर्थिक development पर ज्यादा ध्यान देने लगे. गुजरात के विस्तार और प्रगतशील होने का श्रेय आज भी मोदी को ही दिया जाता है. आज उनका गुजरात मॉडल पुरे राष्ट्र में प्रसिद्द है. क्यू की उन्होंने गुजरात से गरीबी हटाकर वहा कामकाज बढाया.

रेन्द्र मोदी जी की उपलब्धियां BEST ACHIEVEMENTS OF PM NARENDRA MODI IN HINDI (STORY)

भारतीय लोकतांत्रिक चुनावों में एक अद्वितीय और अभूतपूर्व जीत का उल्लेख करते हुए, मोदी अपनी पार्टी के लिए भारी संख्या में वोट पाने में सक्षम थे और अपनी पार्टी के लिए एक पूर्ण बहुमत हासिल करने में सक्षम थे

मोदी सभी बाधाओं को दूर करने में और एक एकल उद्देश्य से एक  राष्ट्र को स्थापित करने में सक्षम थे। मोदी लहर जो राष्ट्र में बह रही थी, वह एक प्रचार अभियान था, जिसने उन्हें बोलने वालों की तुलना में कर्ता के रूप में पेश किया। प्रौद्योगिकी और सोशल मीडिया नेटवर्किंग साइट का उपयोग जिस प्रकार मोदी ने किया वैसे पहले कभी नहीं हुआ था। मोदी आसानी से समाज के विभिन्न पार अनुभाग से कनेक्ट करने में सक्षम थे।

उनके भाषण देने के कौशल, उनके सिद्ध ट्रैक रिकॉर्ड, उनके कभी ना नहीं कहने के तरीके और उनके ‘आम आदमी’ छवि, जाति, पंथ, धर्म और वित्तीय पृष्ठभूमि से प्रभावित होकर मतदाता उनके लिए वोट देते हैं। वह सभी बाधाओं,धार्मिक, क्षेत्रीय या राज्य होने और खुद को एक ऐसे आदमी के रूप में स्थापित करने में सक्षम थे, जो सपने देखने की हिम्मत करता है और जो उन सपनों को पूरा करने के लिए काम करता है।

इंटरव्यू में जब भी पूछा गया कि वह अपनी सफलता का श्रेय किसे देंगे, उन्होंने बार-बार अपनी कड़ी मेहनत के साथ अपने आशावाद और सकारात्मक दृष्टिकोण का उल्लेख किया। वह अक्सर पानी से भरा आधा ग्लास दिखाकर उसका सकारात्मक दृष्टिकोण पेश करते है और हर किसी को आश्वस्त करते हैं, कि उनके लिए, यह हमेशा कगार से भरा लगता है जबकि कांच के नीचे आधा पानी से भरा हुआ है, वह सभी को आश्वासन देता है, कि आधा भाग हवा से भर जाता है यह केवल धारणा का मामला है।

उनका दृढ़ विश्वास इतना ताकतवर है कि वह एक ताजा सकारात्मक बदलाव का प्रतीक बन गये जोकि भारत अब तक भ्रष्टाचार से दूर की राजनीति की तलाश कर रहा था। एक समय में, जब लोग देश में कामकाज और घटनाओं से पूरी तरह निराश हो रहे थे, तो वह आशा के चेहरे के रूप में सामने आये जो राष्ट्र को शानदार रास्ते के जरिए संचालित कर सकते है।

शायद यह उनकी आशावाद और सकारात्मक ऊर्जा है, जो सारा देश नरेंद्र मोदी को भारत के प्रधानमंत्री के रूप में देखता है। यह एक कहानी है जो साबित करती है कि सपने सच होते हैं और यदि आप सपना देखते हैं और इसके लिए काम करते हैं, तो असंभव कुछ भी नहीं है।

नरेन्द्र मोदी / Narendra Modi का प्रधानमंत्री नियुक्त होना

जून 2013 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी की और से मोदी को प्रधानमंत्री उम्मेदवार घोषित किया गया. जहा कई लोगो ने पहले से ही उन्हें भारत का प्रधानमंत्री मान लिया था.

क्यों की कई लोगो का मानना था की मोदी में भारत की आर्थिक स्थिति बदलने का और भारत का विकास करने की ताकत है और अंत में मई 2014 में उन्होंने और उनकी बीजेपी पार्टी में लोकसभा चुनाव में 534 में से 282 सीट प्राप्त कर इतिहासिक जित दर्ज की.

इसी जित के साथ उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को हराया, जो पिछले 60 सालो से भारतीय राजनीती को संभाल रही थी. और भारतीय जनता ने उस समय दिखा दिया था के वे उस समय मोदी के रूप में भारत में बदलाव लाना चाहते थे.

और इसी जित के साथ उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को हराया, जो पिछले 60 सालो से भारतीय राजनीती को संभाल रही थी. और भारतीय जनता ने उस समय दिखा दिया था के वे उस समय मोदी के रूप में भारत में बदलाव लाना चाहते थे.

2014 के फेमस नारे : अबकी बार मोदी सरकार & अच्छे दिन आने वाले है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *